अमीर मीनाई शायरी – हुए नामवर बेनिशां कैसे कैसे

हुए नामवर बेनिशां कैसे कैसे,
ज़मीं खा गयी आसमां कैसे कैसे। – अमीर मीनाई