अहमद फ़राज़ शायरी – उसने मुझे छोड़ दिया तो

उसने मुझे छोड़ दिया तो क्या हुआ फ़राज़…
मैंने भी तो छोड़ा था सारा ज़माना उसके लिए…!!! – अहमद फ़राज़