अहमद फ़राज़ शायरी – जब उसका दर्द मेरे साथ

जब उसका दर्द मेरे साथ वफ़ा करता है
एक समुन्दर मेरी आँखों से बहा करता है. – अहमद फ़राज़