इक़बाल अज़ीम शायरी – हम को दुनिया से मोहब्बत

हम को दुनिया से मोहब्बत भी बहुत है लेकिन
लाख इल्ज़ाम भी दुनिया को दिए जाते हैं – इक़बाल अज़ीम