क़तील शिफ़ाई शायरी – अब जिस के जी में

अब जिस के जी में आए वही पाए रौशनी…
हम ने तो दिल जला के सर-ए-आम रख दिया !! – क़तील शिफ़ाई