Arz Kiya Hai 4 U

Best Hindi Sher O Shayari Collection

क़ाबिल अजमेरी शायरी – अब ये आलम है कि

अब ये आलम है कि ग़म की भी ख़बर होती नहीं
अश्क बह जाते हैं लेकिन आँख तर होती नहीं – क़ाबिल अजमेरी

Updated: July 31, 2017 — 11:54 am
loading...
Arj Kiya Hai 4 U © 2017