दाग देहलवी शायरी – एक तो हुस्न बलाउस पे

एक तो हुस्न बला,उस पे बनावट आफत,
घर बिगाड़ेंगे हजारों के, संवरने वाले। – दाग देहलवी