दाग देहलवी शायरी – जिन को अपनी ख़बर नही

जिन को अपनी ख़बर नही अब तक
वो मेरे दिल का राज क्या जाने – दाग देहलवी