नासिर काज़मी शायरी – ग़म है या खुशी है

ग़म है या खुशी है तू
मेरी ज़िन्दगी है तू – नासिर काज़मी