Arz Kiya Hai 4 U

Best Hindi Sher O Shayari Collection

परवीन शाकिर शायरी – अंधेरे में थे जब तलक

अंधेरे में थे जब तलक ज़माना साज़-गार था
चराग़ क्या जला दिया हवा ही और हो गई – परवीन शाकिर

Updated: July 3, 2017 — 4:50 pm
loading...
Arj Kiya Hai 4 U © 2017