फैज अहमद फैज शायरी – आपकी याद आती रही रात

आपकी याद आती रही रात भर
चाँदनी दिल दुखाती रही रात भर
इक उम्मीद से दिल बहलता रहा
इक तमन्ना सताती रही रात भर । – फैज अहमद फैज