बशीर बद्र शायरी – जरा सी बात का इतना

जरा सी बात का इतना मलाल करते हो
शिकायतें भी वहीँ हैं जहाँ मोहब्बत है – बशीर बद्र