बशीर बद्र शायरी – वो चेहरा किताबी रहा सामने

वो चेहरा किताबी रहा सामने
बड़ी ख़ूबसूरत पढ़ाई हुई – बशीर बद्र