मुनव्वर राना शायरी – अगर स्कूल में बच्चे हों

अगर स्कूल में बच्चे हों घर अच्छा नहीं लगता
परिन्दों के न होने पर शजर अच्छा नहीं लगता – मुनव्वर राना