हफ़ीज़ जालंधरी शायरी – मुसीबत और लंबी ज़िन्दगानी

मुसीबत और लंबी ज़िन्दगानी
बुज़ुर्गों की दुआ ने मार ड़ाला – हफ़ीज़ जालंधरी