हफ़ीज़ जालंधरी शायरी – वफ़ा जिस से की बेवफ़ा

वफ़ा जिस से की बेवफ़ा हो गया
जिसे बुत बनाया ख़ुदा हो गया – हफ़ीज़ जालंधरी