Arz Kiya Hai 4 U

Best Hindi Sher O Shayari Collection

Category: साग़र सिद्दीक़ी शायरी

साग़र सिद्दीक़ी शायरी – देखी जो रक़्स करती हुई

देखी जो रक़्स करती हुई मौज-ए-ज़िंदगी
मेरा ख़याल वक़्त की शहनाई बन गया – साग़र सिद्दीक़ी

साग़र सिद्दीक़ी शायरी – कल जिन्हें छु नहीं सकती

कल जिन्हें छु नहीं सकती थी फ़रिश्तों की नज़र
आज वो रौनक़ ~ए~बाज़ार नज़र आते हैं .. – साग़र सिद्दीक़ी

loading...
Arj Kiya Hai 4 U © 2017