Arz Kiya Hai 4 U

Best Hindi Sher O Shayari Collection

Tag: इरफ़ान सिद्दीक़ी शायरी हिंदी में

इरफ़ान सिद्दीक़ी शायरी – ख़्वाहिशें तोड़ न डालें तिरे

ख़्वाहिशें तोड़ न डालें तिरे सीने का क़फ़स
इतने शह-ज़ोर परिंदों को गिरफ़्तार न रख – इरफ़ान सिद्दीक़ी

इरफ़ान सिद्दीक़ी शायरी – हवा गुलाब को छू कर

हवा गुलाब को छू कर गुज़रती रहती है
सो मैं भी इतना गुनहगार रहना चाहता हूँ – इरफ़ान सिद्दीक़ी

इरफ़ान सिद्दीक़ी शायरी – हवा की ज़द पे हमारा

हवा की ज़द पे हमारा सफ़र है कितनी देर
चराग़ हम किसी शाम-ए-ज़वाल ही के तो हैं – इरफ़ान सिद्दीक़ी

loading...
Arj Kiya Hai 4 U © 2017