Arz Kiya Hai 4 U

Best Hindi Sher O Shayari Collection

Tag: इक़बाल अज़ीम हिंदी शायरी संग्रह

इक़बाल अज़ीम शायरी – चेहरों पे जो डाले हुए

चेहरों पे जो डाले हुए बैठे हैं नक़ाबें
उन लोगों को महफ़िल से उठा क्यूँ नहीं देते – इक़बाल अज़ीम

इक़बाल अज़ीम शायरी – जो नज़र बचा के ग़ुज़र

जो नज़र बचा के ग़ुज़र गये, मेरे सामने से अभी अभी
ये मेरे ही शहर के लोग थे, मेरे घर से घर है मिला हुआ – इक़बाल अज़ीम

Arj Kiya Hai 4 U © 2017