Arz Kiya Hai 4 U

Best Hindi Sher O Shayari Collection

Tag: दुष्यंत कुमार पोएट्री इन हिंदी

दुष्यंत कुमार शायरी – कहाँ तो तय था चराग़ाँ

कहाँ तो तय था चराग़ाँ हर एक घर के लिए
कहाँ चराग़ मयस्सर नहीं शहर के लिए – दुष्यंत कुमार

दुष्यंत कुमार शायरी – जिसे मै ओढता बिछाता हूं

जिसे मै ओढता बिछाता हूं
वही गज़ल तुम्हे सुनाता हूं
एक जंगल है तेरी आंखो मे
मै जहां राह भूल जाता हूं – दुष्यंत कुमार

Arj Kiya Hai 4 U © 2017