Arz Kiya Hai 4 U

Best Hindi Sher O Shayari Collection

Tag: शाद अज़ीमाबादी के हिंदी शेर

शाद अज़ीमाबादी शायरी – अब भी इक उम्र पे

अब भी इक उम्र पे जीने का न अंदाज़ आया
ज़िंदगी छोड़ दे पीछा मिरा मैं बाज़ आया – शाद अज़ीमाबादी

शाद अज़ीमाबादी शायरी – ख़मोशी से मुसीबत और भी

ख़मोशी से मुसीबत और भी संगीन होती है
तड़प ऐ दिल तड़पने से ज़रा तस्कीन होती है – शाद अज़ीमाबादी

loading...
Arj Kiya Hai 4 U © 2017