Arz Kiya Hai 4 U

Best Hindi Sher O Shayari Collection

Tag: ज़फ़र इक़बाल हिंदी शायरी संग्रह

ज़फ़र इक़बाल शायरी – विदा करती है रोज़ाना ज़िंदगी

विदा करती है रोज़ाना ज़िंदगी मुझ को
मैं रोज़ मौत के मंजधार से निकलता हूँ – ज़फ़र इक़बाल

ज़फ़र इक़बाल शायरी – मुस्कुराते हुए मिलता हूँ किसी

मुस्कुराते हुए मिलता हूँ किसी से जो ‘ज़फ़र’
साफ़ पहचान लिया जाता हूँ रोया हुआ मैं – ज़फ़र इक़बाल

loading...
Arj Kiya Hai 4 U © 2017