अमीर मीनाई शायरी – मुश्किल बहुत पड़ेगी बराबर की

मुश्किल बहुत पड़ेगी बराबर की चोट है
आईना देखिएगा ज़रा देख-भाल के – अमीर मीनाई