अहमद फ़राज़ शायरी – बात किस्मत की है फराज़

बात किस्मत की है फराज़ जुदा हो गए हम
वरना वो तो मुझे तक़दीर कहा करती थी । – अहमद फ़राज़