निदा फ़ाज़ली शायरी – सातों दिन भगवान के

सातों दिन भगवान के ,क्या मंगल क्या वीर।
जिस दिन सोये देर तक भूखा रहे फ़कीर ।। – निदा फ़ाज़ली