परवीन शाकिर शायरी – उसने देखा ही नहीं वर्ना

उसने देखा ही नहीं वर्ना ये आँख,
दिल का अहवाल बयाँ करती है !! – परवीन शाकिर