दाग देहलवी शायरी – कयामत क्यों नहीं आती इलाही

कयामत क्यों नहीं आती इलाही माजरा क्या है
हमारे सामने पहलू में वो गैरों के बैठे हैं – दाग देहलवी

दाग देहलवी शायरी – दर्द बन के दिल में

दर्द बन के दिल में आना, कोई तुम से सीख जाए
जान-ए-आशिक हो के जाना ,कोई तुम से सीख जाए । – दाग देहलवी

दाग देहलवी शायरी – उज़्र उन की ज़बान से

उज़्र उन की ज़बान से निकला
तीर गोया कमान से निकला – दाग देहलवी