बशीर बद्र शायरी – मुझे भुलाये कभी याद करके

मुझे भुलाये कभी याद करके रोये भी
वो अपने आप को बिखराये और पिरोये भी – बशीर बद्र