बशीर बद्र शायरी – हर चीज़ है बाज़ार में

हर चीज़ है बाज़ार में इस हाथ दे उस हाथ ले
इज़्ज़त गई शोहरत मिली रुस्वा हुए चर्चा हुआ – बशीर बद्र