जिगर मुरादाबादी शायरी – सभी अंदाज़-ए-हुस्न प्यारे हैं

सभी अंदाज़-ए-हुस्न प्यारे हैं
हम मगर सादगी के मारे हैं – जिगर मुरादाबादी