नक़्श लायलपुरी शायरी – वक़्त ही दर्द के काँटों

वक़्त ही दर्द के काँटों पे सुलाए दिल को।।
वक़्त ही दर्द का एहसास मिटा देता है।। – नक़्श लायलपुरी